health plus aahar

असंतुलित खाना। समय पर नही खाना। पैकिंग खाना या जंक फूड का अधिक सेवन आपकी सेहत के लिए कितना नुकसायनदायक हो सकता है असाधारण रूप से खाना, व्यायाम नहीं करना, हरी सब्जियो व् फलो का सेवन नहीं करना। हमें साबुत ओर अंकुरीत अनाज का उपयोग करना चाहिए। जो हमारे स्वास्थ के लिये ला भदायक है इनमें उपस्थित खनिज तत्व हमारे शरीर के लिए अत्यधिक आवश्यक है। इनके पोषक तत्वो में मौजूद सामग्री दिल की सेहत ओर स्वास्थय का समर्थन करती है। हमें स्वस्थ बनाये रखते है। और हमारे शरीर स्वस्थ ओर सुद्रढ बनाये रखते है।

Header Ads

Responsive Ads Here

1/19/2020

9 [सर्वश्रेष्ठ] स्वस्थ नाश्ता आइडिया( Healthy Breakfast Idea)

सुबह होते ही आपको एक पौष्टिक नाश्ते की आवश्यकता है। क्योकि आप रात्रि के  एक लम्बे अंतराल एक बाद आप कुछ खाते है। तो फिर आप  आपने नास्ते से समजोता क्यों करें इसलिए आपको  नास्ते में  बेहद पौष्टिक आहार की  आवश्यकता होती है. नास्ते  में आपको तेलीय चीजों से बचना चाहिए आपको तेलीय पराठे, फ्राई कि हुई चीजों से बचना चाहिए. इसके स्थान पर आप अंकुरित अनाज, दलिया, ओट्स , पोहा ,  फल, दूध, दही, उबले हुए अंडे ,स्मूथी, फलो का जूस जैसे की गाजर ,संतरा,सेब ,बेरीज,और बहुत से  फलो को जोड़ सकते है, जो आसानी से उपलब्ध हो।  आदि चीजों का इस्तमाल करके अपने नास्ते का आनंद ले और  स्वस्थ रहें। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हमें अपने स्वाद के लिए समझौता करना चाहिए जो हमें दुखी छोड़ दे और भूखे रहे। आपको  स्वस्थ नाश्ते के विचारों की आवश्यकता होती है। तो चलिए आपको अपने हेल्थी और टेस्टी नास्ते से अवगत कराते है। क्योकिअच्छा नास्ता होगा तो दिन भी अच्छा होगा।


1.दही

https://healthplusaahar.blogspot.com/

 मलाईदार, स्वादिष्ट और पौष्टिक है। दही को आप वभिन्न तरह से उपयोग में ले सकते है आप इसकी लस्सी ,स्मूथी , व् फलो के साथ ले सकते है। तो जानते दही कइ उपयोगी गुणों क बारे में।
दही प्रोटीन में भरपूर होता है और  प्रोटीन को भूख की भावनाओं को कम करने के लिए दिखाया गया है और इसमें वसा या कार्ब्स की तुलना में अधिक ऊष्मीय प्रभाव होता है।

 दही और दूध से बनाने वाले अन्य डेयरी उत्पाद भी वजन नियंत्रण में मदद कर सकते हैं क्योंकि वे हार्मोन के स्तर को बढ़ाते हैं जो पूर्णता को बढ़ावा देते हैं,

 दही में संयुग्मित लिनोलिक एसिड (सीएलए) होता है, जो वसा के नुकसान को बढ़ा सकता है और स्तन कैंसर के जोखिम को कम कर सकता है  दही बिफीडोबैक्टीरिया जैसे प्रोबायोटिक्स के अच्छे स्रोत हैं, जो आपके पेट को स्वस्थ रहने में मदद करते हैं ।

 अपने भोजन के विटामिन, खनिज और फाइबर सामग्री को बढ़ाने के लिए फल के साथ दही कासेवन करे।  दही प्रोटीन में उच्च है, भूख कम करने में मदद करता है और वजन घटाने में सहायता कर सकता है।  कुछ प्रकारों में फायदेमंद प्रोबायोटिक्स भी होते हैं


2 नट्स

https://healthplusaahar.blogspot.com/

 स्वादिष्ट, संतोषजनक और पौष्टिक होते हैं। इन्हे अपने नास्ते के साथ जोड़ना बहुत ही बेहतरीन सुझाव हो सकता है। इनका उपयोग आप किसी भी प्रकार से कर सकते है उदाहरण के लिए आप लस्सी में,स्मूथी में,फलो के साथ कर सकते है.
 नट्स आपके वजन बढ़ाने को रोकने में मदद करते हैं।

 हलाकि नट्स कैलोरी में अधिक होती है. (इसलिए आपको नट्स का उपयोग सिमित रूप से करना चाहिए।)  उनमें मौजूद सभी वसा को अवशोषित नहीं करेंगे। तथा ये नास्ते में काफी उपयोगी साबित हो सकते है

 आपके  शरीर को  केवल बादाम की 1 औंस (28-ग्राम) की लगभग 129 कैलोरी अवशोषित करता है। अपने नास्ते में बादाम को जरूर स्थान दे।
 नट्स हृदय रोग के जोखिम काम करता है , इंसुलिन प्रतिरोध को कम करने और सूजन को कम करने में भी सहायक है।और सभी प्रकार के नट्स मैग्नीशियम, पोटेशियम और हृदय-स्वस्थ मोनोअनसैचुरेटेड वसा में भी उच्च होते है।

 डायबिटीज वाले लोगों के लिए भी अखरोट फायदेमंद है।   इससे रक्त शर्करा और कोलेस्ट्रॉल के स्तर में कमी आती है।


3. पोहा

9 [सर्वश्रेष्ठ] स्वस्थ नाश्ता आइडिया 9 [Best] Healthy Breakfast Idea

पोहा हमारे  देश में  पसंद किया जाने वाला पोस्टिक नास्ता है।  इसे आप नास्ते में स्नेक्स में और किसी भी समय उपयोग में ले सकते है। देश के विभिन्न जगह पर इसे अलग अलग रूपों में पसंद किया जाता है।  कई पर ये प्याज़ के साथ तो कई पर आलू क साथ यह बनाने में आसान और बहुत ही पौष्टिक आहार है इसको अनार और तीखी सेव क साथ काफी पसंद किया जाता है।
पोहे क स्वास्थ्य लाभ पर प्रकाश  डाले तो यह काफी फयदेमंद है
यह डाइबिटीस में शुगर लेवल को स्थिर रखता है। यह फाइबर अधिक होने क कारन डाइबिटीज़ में रक्त में आये तेज प्रवाह को रोकने में मदद करता है.
पोहे में कार्बोहाड्रेट की अच्छी मात्रा होने क कारन यह हमें अपने रोजमर्रा कार्यो को पूरा करने में हमारे शरीर  में ऊर्जा का अच्छा श्रोत है।
पोहा को आसानी से पच जाता है इसके लिए हमारे पाचन तंत्र का काफी मशक्कत नहीं करनी पड़ती है। इसलिए इसे अपने नास्ते तथा शाम के भोजन में  भी शामिल कर सकते है


पोहा को और हेल्थी और टेस्टी बनाने क लिए आप उसमे नारियल चिप्स,मूंगफली,अनार दाना, तीखी सेव आदि का उपयोग कर सकते है। पोहे में कैलोरी काफी काम होती है।   विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सीडेंट भी होते है क्योकि हम उसमे करीपत्ता का  उपयोग करते है। यदि आप अपना वजन घटना चाहते है तो पोहा एक अच्छा विकल्प हो सकता है।


4. ओट्स

9 [सर्वश्रेष्ठ] स्वस्थ नाश्ता आइडिया 9 [Best] Healthy Breakfast Idea

ओट्स एक पौष्टिक  है। ये साधरणतया  दबाकर  या कुचल बनाया जाता है और फिर दलिया, या दलिया के रूप में सेवन किया जाता है।
 यह जो से बनाया जाता है जौ  एक  साबुत अनाज होता हैं, व्  फाइबर और महत्वपूर्ण पोषक तत्वों से भरपूर होता  हैं।  ओट्स का  फाइबर और मैंगनीज  आपकी दैनिक जरूरतों का फास्फोरस और सेलेनियम  और जस्ता  प्रदान करता है।इसे आप दूध के साथ उबाल कर सेवन कर सकते है। आप इसमें आवश्यकता अनुसार नट्स और फलो का प्रयोग भी कर सकते है जिससे इसकी उपयोगिता और बाद जाती है।
ओट्स से बी विटामिन, लोहा और मैग्नीशियम  की एक महत्वपूर्ण मात्रा भी प्रदान करते हैं।

 दलिया का सेवन भी नास्ते को काफी पौष्टिक बना सकता है।  यह बनाने के लिए बहुत ही आसान है और इसे कई अलग-अलग तरीकों से बनाया  जा सकता है।  इसे अक्सर पानी या दूध के साथ उबाला जाता है और फिर ताजे फल, दालचीनी या नट्स के साथ सेवन करना बहुत ही लाभदायक है।

5. अंडे

9 [सर्वश्रेष्ठ] स्वस्थ नाश्ता आइडिया 9 [Best] Healthy Breakfast Idea

अंडे निर्विवाद रूप से स्वस्थ और स्वादिष्ट होते हैं।
नाश्ते में अंडे खाने से आपको महसूस करेंगे  की आपने एक हेल्थी नास्ता किया है परिपूर्णता की भावनाएं बढ़ जाती हैं, अगले भोजन में कैलोरी की मात्रा कम हो जाती है और स्थिर रक्त शर्करा और इंसुलिन का स्तर बनाए रखने में मदद मिलती है

 एक अध्ययन में, नाश्ते के लिए अंडे खाने वाले पुरुष अधिक संतुष्ट महसूस करते थे


 इसके अतिरिक्त, अंडे की जर्दी में ल्यूटिन और ज़ेक्सैंथिन होते हैं।  ये एंटीऑक्सिडेंट मोतियाबिंद और धब्बेदार अध: पतन जैसे नेत्र विकारों को रोकने में मदद करते हैं।

अंडे भी choline के सबसे अच्छे स्रोतों में से एक हैं, मस्तिष्क और यकृत स्वास्थ्य के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण पोषक तत्व है।

 हालांकि अंडो में उच्च कोलेस्ट्रॉल की मात्रा होती है , अंडे ज्यादातर लोगों में कोलेस्ट्रॉल का स्तर नहीं बढ़ाते हैं।

वास्तव में, पूरे अंडे खाने से "खराब" एलडीएल कोलेस्ट्रॉल, "अच्छा" एचडीएल कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है और इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार  के आकार को संशोधित करके हृदय रोग के जोखिम को कम किया जा सकता है।

और क्या चाहिये ,तीन बड़े अंडे आपको 20 ग्राम उच्च गुणवत्ता वाला  प्रोटीन प्रदान करते हैं।

अंडे भी बहुत बहुमुखी हैं।  उदाहरण के लिए, कठोर उबले अंडे एक शानदार पोर्टेबल नाश्ता बनाते हैं इसके लिए आपको अधिक नहीं गवाना पड़ेगा। अंडे प्रोटीन और कई महत्वपूर्ण पोषक तत्वों में उच्च हैं।  वे परिपूर्णता को भी बढ़ावा देते हैं और आपको कम कैलोरी खाने में मदद करते हैं।


6. फल
9 [सर्वश्रेष्ठ] स्वस्थ नाश्ता आइडिया 9 [Best] Healthy Breakfast Idea


फल एक पौष्टिक नाश्ते का एक स्वादिष्ट हिस्सा हो सकता है।और इसमें कई विकल्प है। आप अपने स्वाद और पसंद के अनुसार इनका सेवन कर सकते है फलो को अपने नास्ते में स्थान देना एक बेहतर विकल्प है।

सभी प्रकार के फलों में विटामिन, पोटेशियम, फाइबर होते हैं और कैलोरी में अपेक्षाकृत कम होते हैं।  इनका उपयोग आप काट कर या जूस या अन्य रूपों मेले सकते है. कटा हुआ फल का एक कप लगभग  80-130 कैलोरी प्रदान करता है।
खट्टे फल भी विटामिन सी में बहुत अधिक होते हैं। वास्तव में, एक बड़ा नारंगी विटामिन सी (78) के लिए अनुशंसित दैनिक सेवन का 100% से अधिक प्रदान करता है।
 इसके उच्च फाइबर और पानी की मात्रा  के कारण फल भी बहुत भरने लगता है।

एक अच्छी तरह से संतुलित नाश्ते के लिए अंडे, पनीर, पनीर या ग्रीक दही के साथ फल लें जो आपकी ऊर्जा को  घंटों तक बनाए रखेगा।
विटामिन, पोटेशियम और फाइबर का एक अच्छा स्रोत है।  इसमें एंटीऑक्सिडेंट भी होते हैं जो रोग के जोखिम को कम करने में मदद कर सकते हैं।


 7. मूसली

9 [सर्वश्रेष्ठ] स्वस्थ नाश्ता आइडिया 9 [Best] Healthy Breakfast Idea

 मूसली एक स्वस्थ और स्वादिष्ट दोनों प्रकार का अनाज है।  यह आम तौर पर दबा हुआ जई, नट, बीज और सूखे फल के संयोजन के साथ बनाया जाता है। यह बनाने के लिए जितना आसान है। तो खाने में उतना ही स्वदिस्ट और हेल्थी है। ऐसे आप ओट्स से भी बना सकते है।

बनाने के लिए आप ओट्स ले उसमे आप आवश्यकता अनुसार नेट्स मिळाले ,फलो में आप केला ,सेब ,चीकू ,या आप अन्य कोई भी फल स्वादानुसार ले सकते है। आप चाहे  तो गाजर का जूस,सेब का जूस,चुकुन्दर का जूस में भिगो कर रख दे। कुछ ही समय में यह मिश्रण मुलायम हो जायेगा फिर आप इसमें आवश्यकता अनुसार दूध, दही मिळाले और इसके स्वाद और एनर्जी का मजा ले।

जबकि ग्रेनोला के समान, मूसली में अंतर होता है   इसे कच्चा या बिना पकाए खाया जाता है।  इसके अलावा, इसमें आम तौर पर कोई तेल या मिठास नहीं होती है। चाहे तो आप मिठास क लिए सहद का उपयोग कर सकते है।

साबुत अनाज, नट और बीजों का संयोजन मूसली को प्रोटीन का एक उत्कृष्ट स्रोत बनाता है,  इसमें बहुत सारे फाइबर, विटामिन और खनिज (4) शामिल हैं।

आप अनाज से मुक्त संस्करण बनाकर मूसली की कार्ब सामग्री को काफी कम कर सकते हैं, जिसे नारियल के गुच्छे, नट और किशमिश से बनाया जा सकता है।


8. स्मूदी
9 [सर्वश्रेष्ठ] स्वस्थ नाश्ता आइडिया 9 [Best] Healthy Breakfast Idea


स्मूदी दिन के किसी भी समय एक संपूर्ण स्नैक है। इसे आप किसी भी समय और कई भी सेवन कर सकते है।  आप इसमें केले, मूंगफली का मक्खन, दही, शहद, और कुछ बर्फ के टुकड़े ब्लेंड करें और आप एक मिल्कशेक की तरह सेवन करे।
यहाँ सुबह की भीड़ के लिए एक सरल और स्वादिष्ट स्मूदी है।

 दही और अपनी पसंद का एक तरल (दूध, रस, नारियल पानी - जो भी आपको पसंद है) के साथ ताजा या जमे हुए या ताजे फल (केला,बेरीज  और पपीता  और आपके पसंद क फलो को ले सकते है। 
बस आपको इसका मिस्रण बनाना है। मिस्रण  करने में पांच मिनट से भी कम समय लगता है।और आपका हेल्थी ड्रिंक तैयार जो पोषण तत्वों से भरपूर है।

9. उपमा


उपमा को हमारे देश मे काफी पसंद किया जाता है यह रवे से बनया जाता है यह हमारे देश उत्तर से लेकर दक्षिण तक उपलब्ध रहता है इसे नास्ते मे काफी पसन्द किया जाता है गेहूं  में कार्बोहाइड्रेट, 3 ग्राम फाइबर, प्रोटीन और  लोहा, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, पोटेशियम, सोडियम और जस्ता जैसी कुछ खनिज हैं।

इसमें कुछ विटामिन (बी-जटिल समूह) हैं हम गेहूं रवा से बने उपमा के स्वास्थ्य लाभों के बारे में चर्चा करते हैं। यह पचने में काफ़ी समय लेता है यही वजह है। की यह लम्बे समय तक हमें भुख लगने का अहसास नहीं होने देता।

हमारे पाचन तन्न के लिये रवे को उपयोगी माना गया है। गेहु से बने रवे मे विटामीन बी ओर ई होता हैI यह प्रतिरक्षा प्रणाली मे काफी मदद करता है । ओर आपको ऊर्जावान बनाये रखता है  प्रतिरक्षा के लिए अच्छा गेहूं रवा में मौजूद विटामिन आपकी प्रतिरक्षा के लिए अच्छा हैं। मुख्य रूप से, विटामिन बी और ई  युँ कहे की उपमा आपको ऊर्जावान रख सकता है। इसे ओर हेल्दी बनाने के लिये आप इसमें सब्जियो का प्रयोग भी कर सकते है जिससे आपको फाइबर भी प्राप्त होगा ।

गेहु में पोटेशियम होता है जो हमारे गुर्द के लिये बहुत उपयोगी है। गेहु मे उपस्थित पोषक तत्व आपके दिल के लिए स्वस्थ हैं। गेहू मे सेलेनियम होता है जो प्रतिरक्षा के लिये आवश्यक है। इसमें आप अन्य सब्जियो ओर नट्स जैसे कि टमाटर आलु मटर नट्स मे आप काजू किशमिश और अनार दाना का उपयोग कर सकते है  इससे आपका उपमा काफी हेल्दी होगा और आपके शरीर को ऊर्जावान बनाने के लिये आवश्यक पोषक तत्व मिलेंगे। यह उपमा को ओर पोषक बनाता है। गेहूं रवा में मनीसियम, फॉस्फोरस और जस्ता जैसे तत्व हमारे शरीर को हड्डियों के लिए अच्छे है, आपके तंत्रिका तंत्र और हड्डियों के लिए भी अच्छा है। लोहे का अच्छा स्रोत क्या है जो रवा लोहे का अच्छा स्रोत है, यह एनीमिया को रोका जा सकता है इसके अलावा, यह आपके रक्त परिसंचरण को बढ़ाता है





1/15/2020

लहसुन और शहद का उपयोग (Garlic honey benefits)


लहसुन और शहद के स्वास्थ्य लाभ


https://healthplusaahar.blogspot.com/

क्या आप जानते है। की आपकी रसोई मे स्वाद बढाने वाली लसुन के हैरान कर देने वाले अनेक फायदे शायद कुछ लोग जानते होगे तो चलिये जानते है और इस छोटी सी चीज के बड़ें बडें फायदे। ओर अगर इसके साथ सहद को भी मिलाले तो फिर बात ही क्या।



 लहसुन और शहद के कई स्वास्थ्य लाभ हैं।  आप उनके लाभकारी गुणों का अकेले या साथ में उपयोग करके आनंद ले सकते हैं।  उन्हें औषधीय पूरक के रूप में लिया जा सकता है, या उनका उपयोग  प्राकृतिक रूप मे अपने व्यंजनों कर सकते है।



 शहद और लहसुन का मिश्रण कुछ अन्य रूपों में फायदेमंद हो सकते हैं।



 लहसुन और शहद के स्वास्थ्य लाभों के बारे में जानने के लिए पढ़ते रहें, कि कौन से रूपों का उपयोग करना सबसे अच्छा है, दोनों के लिए व्यंजन और संभावित दुष्प्रभाव।



 लहसुन और शहद के गुण कुछ इस तरह है.




 लहसुन और शहद का उपयोग हम सालो से अपने घरो में विभिन्न तरह से करते आ रहे है. इसमें ऑक्सीजन, सल्फर और अन्य रसायन होते हैं लहसुन में मुख्य स्वास्थ्य घटक एलिसिन है।जो लहसुन को जीवाणुरोधी और जो विभिन्न रोगो में उपयोगी है.



अनेक प्रकार क प्रयोगो से पता चला  कि ताजा लहसुन  कुचलने  कर उपाय करने की तुलना में अधिक allicin जारी करता है।  हालांकि, कटा हुआ या कुचल लहसुन उसमे उपस्थित  एलिसिन स्तरों को जल्दी से खो सकता है।  आपको अधिकतम लाभ के लिए क्स्टने के तुरंत  बाद  लहसुन का उपयोग करना चाहिए।



 शहद प्राकृतिक रूप से एंटीऑक्सिडेंट्स में उच्च होता है। स्रोत जिसे फ्लेवोनोइड्स और पॉलीफेनोल्स कहा जाता है।  ये रसायन शरीर में सूजन (लालिमा और सूजन) से लड़ने में मदद करते हैं।  यह प्रतिरक्षा प्रणाली को संतुलित करने और कुछ बीमारियों को रोकने में मदद कर सकता है।  शहद में जीवाणुरोधी तंतु भी होता है, जो एंटीवायरल ट्रास्टेड सोर्स और एंटीफंगलट्रस्टेड सोर्स गुण होते हैं।



 लहसुन और शहद के स्वास्थ्य लाभ

https://healthplusaahar.blogspot.com/



 चिकित्सा अनुसंधान ने अकेले लहसुन और शहद के स्वास्थ्य लाभ और संयोजन में जांच की है।  कुछ शोध घरेलू उपचारों में किए गए दावों पर आधारित हैं जिनका उपयोग सैकड़ों वर्षों से किया जा रहा है।



सहद  का उपयोग श्वास संबंधी समस्याओं, त्वचा के संक्रमण और यहां तक ​​कि दस्त के इलाज के लिए किया जाता है।



 पारंपरिक रूप से लहसुन का उपयोग सर्दी और खांसी के इलाज के लिए किया जाता है।  इसने प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने और अस्थमा के लक्षणों को कम करने में मदद मिलती है.  पारंपरिक चिकित्सा ने लहसुन को हृदय रोग, उच्च रक्तचाप, गठिया, दांत दर्द, कब्ज और संक्रमण के इलाज में मदद करने की सिफारिश की।

जीवाणुरोधी


 लहसुन और एक प्रकार का शहद जिसे ताज़मा शहद कहा जाता है, कुछ प्रकार के जीवाणुओं को बढ़ने से रोकने में सक्षम था।



 अध्ययन ने प्रत्येक भोजन को अलग-अलग और मिश्रण के रूप में परीक्षण किया।  शोधकर्ताओं ने पाया कि लहसुन और शहद दोनों ही बैक्टीरिया को मारने में सक्षम थे जब अकेले परीक्षण किया गया।  लहसुन और शहद के संयोजन ने और भी बेहतर काम किया।



 लहसुन और शहद के संयोजन ने बैक्टीरिया के विकास को धीमा कर दिया या रोक दिया, जो निमोनिया और एक प्रकार के खाद्य विषाक्तता सहित बीमारी और संक्रमण का कारण बनता है।  इनमें स्ट्रेप्टोकोकस निमोनिया, स्टैफिलोकोकस ऑरियस और साल्मोनेला शामिल थे।



 लहसुन का रस और शहद का एक संयोजन भी बैक्टीरिया के संक्रमण को रोकने में सक्षम था जो एंटीबायोटिक दवाओं द्वारा इलाज नहीं किया जा सकता है।


 विषाणु-विरोधी


 कुछ प्रकार के शहद में शक्तिशाली एंटीवायरल गुण भी होते हैं।  यह वायरस के कारण होने वाले जुकाम, फ्लस और अन्य बीमारियों के इलाज या रोकथाम में मदद कर सकता है।

 मनुका शहद फ्लू वायरस को बढ़ने से रोकने में सक्षम था।  शोधकर्ताओं ने निष्कर्ष निकाला कि शहद, विशेष रूप से मनुका शहद, लगभग इस वायरस के खिलाफ एंटीवायरल दवाओं के रूप में काम करता है।


 कई नैदानिक ​​और प्रयोगशाला अध्ययनों ने लहसुन के कई हृदय स्वास्थ्य लाभों पर ध्यान दिया है।  मेयो क्लिनिक नोट करता है कि शहद में एंटीऑक्सिडेंट आपको हृदय रोग से बचाने में मदद कर सकते हैं।

 एक चिकित्सा समीक्षा के अनुसार स्रोत के अनुसार, लहसुन हृदय रोग और स्ट्रोक के जोखिम को कम करने में मदद करता है:

 उच्च रक्तचाप को कम करना

 उच्च कोलेस्ट्रॉल कम करना

 बहुत अधिक थक्के बनने से रोकना (रक्त का पतला होना)

 कठोर या कठोर रक्त वाहिकाओं को रोकना

 एक अन्य पुनरीक्षित स्रोत ने पाया कि लहसुन में सल्फर के अणु हृदय की मांसपेशियों को नुकसान से बचाने और रक्त वाहिकाओं को अधिक लोचदार बनाने में मदद कर सकते हैं।  यह हृदय रोग, रक्त के थक्के और स्ट्रोक को रोकने में मदद करता है।

 एक प्रकार का कोलेस्ट्रॉल जिसे एलडीएल कहा जाता है, रक्त वाहिकाओं में सख्त होने का मुख्य कारण है।  इससे हृदय रोग और स्ट्रोक हो सकता है।


 स्मृति और मस्तिष्क स्वास्थ्य उपयोग


 लहसुन और शहद दोनों एंटीऑक्सीडेंट यौगिकों में उच्च हैं।  ये स्वस्थ रसायन आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को संतुलित करने और बीमारी को रोकने में मदद करते हैं।  वे आपके मस्तिष्क को डिमेंशिया और अल्जाइमर जैसी सामान्य बीमारियों से भी बचा सकते हैं।

 अधिक शोध की आवश्यकता है कि लहसुन इन आयु संबंधी बीमारियों को कैसे रोक सकता है या धीमा कर सकता है।

 अध्ययनों से पता चलता है कि वृद्ध लहसुन के अर्क में अधिक मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट होता है जिसे किलिक एसिड कहा जाता है।  यह शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट उम्र बढ़ने और बीमारी के कारण मस्तिष्क को नुकसान से बचाने में मदद कर सकता है।  यह कुछ लोगों में स्मृति, एकाग्रता और ध्यान केंद्रित करने में मदद कर सकता है।

 लहसुन और शहद का उपयोग कैसे करें

 आप लहसुन और शहद के कई स्वास्थ्य लाभों का आनंद ले सकते हैं या तो उनके साथ खाना पकाने या उन्हें पूरक आहार के रूप में ले सकते हैं।

 ताजा कुचल या कटा हुआ लहसुन के सबसे स्वास्थ्य लाभ हैं।  स्वस्थ यौगिकों में लहसुन पाउडर और वृद्ध लहसुन का अर्क भी अधिक होता है।  लहसुन के तेल में कम स्वास्थ्य गुण होते हैं, लेकिन फिर भी इसका उपयोग खाना पकाने में स्वाद जोड़ने के लिए किया जा सकता है।

 लहसुन की खुराक में आमतौर पर लहसुन पाउडर होता है।  ताजा लहसुन या लहसुन की खुराक के लिए कोई अनुशंसित खुराक नहीं है।  कुछ नैदानिक ​​अध्ययन सौंपे गए स्रोत बताते हैं कि आप लहसुन पाउडर के 150 से 2,400 मिलीग्राम की दैनिक खुराक से स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

 कच्चा, शुद्ध शहद का उपयोग खांसी, जुकाम और गले में खराश के प्राकृतिक उपचार के रूप में किया जा सकता है।  मेयो क्लिनिक खांसी के लिए खट्टे शहद, नीलगिरी शहद, और लोबिया शहद का उपयोग करने की सलाह देता है।  सर्दी और फ्लू के लक्षणों को कम करने में मदद करने के लिए एक चम्मच शहद आवश्यकतानुसार लें या हर्बल टी में शहद मिलाएं।

 शहद का उपयोग त्वचा पर एलर्जी की चकत्ते, मुँहासे भड़काने और अन्य त्वचा की जलन को शांत करने में भी किया जा सकता है।  यह त्वचा के घाव को भरने, जलने और खरोंच को ठीक करने में मदद करने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है।  त्वचा को साफ करें और सीधे क्षेत्र में चिकित्सा-ग्रेड शहद की एक छोटी मात्रा लागू करें।

 लहसुन और शहद का उपयोग करने वाले व्यंजन


लहसुन और शहद का उपयोग करने वाले व्यंजन

 शहद और लहसुन का एक संयोजन कई दैनिक व्यंजनों के स्वाद और स्वास्थ्य लाभ को बढ़ा सकता है।


 2. एंटी-इंफ्लेमेटरी के रूप में काम करें: रिसर्च से पता चला है कि लहसुन का तेल एंटी-इंफ्लेमेटरी के रूप में काम करता है।  इसलिए, यदि आपके पास जोड़ों या मांसपेशियों में दर्द और सूजन है, तो उन्हें तेल से रगड़ें।

 3. हृदय स्वास्थ्य में सुधार: यह फैसला अभी भी जारी है कि क्या लहसुन आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर में सुधार करता है, लेकिन शोध से यह संकेत मिलता है  लाल रक्त कोशिकाएं लहसुन में सल्फर को हाइड्रोजन सल्फाइड गैस में बदल देती हैं, जो हमारे रक्त वाहिकाओं को फैला देती हैं, जिससे रक्तचाप को नियंत्रित करना आसान हो जाता है।

हृदय रोग के अपने जोखिम को कम करने के लिए, प्रतिदिन 4 ग्राम लहसुन - एक बड़े लौंग के आकार की सिफारिश करता है।

 4. आपको बेहतर बाल और त्वचा प्रदान करते हैं: लहसुन के एंटीऑक्सिडेंट और जीवाणुरोधी गुण मुँहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारकर आपकी त्वचा को साफ कर सकते हैं।  कुछ आंकड़ों से पता चलता है कि कच्चे लहसुन को पिंपल्स पर रगड़ने से वे दूर हो सकते हैं।  हालाँकि, अवगत रहें, कि यह आपकी त्वचा पर जलन पैदा कर सकता है।

 5. अपने भोजन की रक्षा करें: ताजा लहसुन में वही जीवाणुरोधी गुण उन बैक्टीरिया को मार सकते हैं जो खाद्य विषाक्तता को जन्म देते हैं, जिनमें साल्मोनेला और ई.कोली शामिल हैं।  लहसुन का उपयोग उचित खाद्य स्वच्छता और भोजन से निपटने के विकल्प के रूप में नहीं किया जाता है।

 6. लहसुन भी कवक से लड़ता है।  यदि आपके पास एथलीट फुट है, तो अपने पैरों को लहसुन के पानी में भिगोएँ या अपने पैरों पर कच्चे लहसुन को रगड़ें ताकि खुजली पैदा करने वाले कवक पर हमला किया जा सके।

 लहसुन को अधिकतम उपयोग कैसे करे

 जबकि आप चाय बनाने के लिए गर्म पानी में कटा हुआ लहसुन डाल सकते हैं, स्वाद को शहद के साथ कवर कर सकते हैं, लहसुन के लाभों का लाभ उठाना थोड़ा जटिल है।  इसे गर्म करना या इसे एक नुस्खा में डालना इसके पीएच संतुलन को बदल सकता है।  एलिसिन से एंजाइमों को काम करना शुरू करने के लिए कुछ मिनटों की आवश्यकता होती है, इसलिए इसे मिंस, क्रश या चॉप करने के बाद बैठें।

1/09/2020

डिटॉक्स वॉटर" (Detox Health Benefits)






डिटॉक्स वॉटर" से होने वाले स्वास्थ्य लाभ बहुत अधिक प्रचलितहै।



डिटॉक्स वॉटर"  (Detox Health Benefits)

अगर आपके पानी का स्वाद जितना बेहतर होगा, तो संभवत आप उतना अधिक पानी आप पीने के लिए इच्छुक होंगे, इससे आप उम्मीद है कि आप अन्य पेय पदार्थो से दूर रहेंगे ओर डेटोक्स बनना कोई बड़ी बात नही है। बनाने के बाद आप कहेंगे- ओह इतना आसान। पीने के बाद शरीर आपको धन्यवाद देगा, और आप शायद कुछ ही समय में अपने आप को एक उज्ज्वल, स्पुर्ति भरा अधिक जीवंत और बेहतर कार्य करने वाले संस्करण पर ध्यान देंगे।तो, यहा आपको कुछ सरल उपाय दिये गये है जिससे आप अपनी आवश्यकता के अनुसार सामग्री लेकर बना सकते है। कोशिश करें और कार्बनिक पदार्थो से दूरी बनाये उनकी जगह आप डटोक्स वाटर का उपयोग करें और अपने आप को सेहतमंद रखे। जिससे आप पिने का मजा भी ले सकते है और साथ साथ सेहत का ध्यान भी रख सकते है।


नींबू ओर गर्म पानी,



सुबह सुबह आप उठने के बाद निम्बु और गर्म पानी का सेवन करें जिससे आपके शरीर से हानिकारक तत्व बाहर निकल जायेंगे ओर आपको अपने पाचन तंत्र को ताज़ा और साफ़ रखनेके लिए बस एक कप गर्म पानी में आधा नींबू का रस निचोड़ें और सुबह नाश्ते से पहले पहली चीज का सेवन करें। चलिये जानते है कि डेटोक्स पानी कैसे आपकी मदद करता हैं।:यह इतनाआसान और प्रभावी तरीका है, और उन्मूलन के रूप में आपके पाचन तंत्र पर तत्काल परिणाम देता है।नींबू: नींबू का रस आंतों को साफ करने के लिए एक प्राकृतिक नुस्के के रूप में काम करता है, और गर्म पानी शरीर मे जमा हानिकारक पदार्थो को बाहर निकालने में मदद करताहै जो आपके शरीर को अब हर चीज को रिलीजकरने में मदद करता है। विटामिन सी एक प्राकृतिक एंटीऑक्सिडेंट, विरोधी भड़काऊ और पाचन बूस्टर है। खट्टापन अग्नि, पाचन अग्नि को भी उत्तेजित करता है।

आईये जानते है Detox पानी क्या है?


डिटॉक्स वॉटर"  (Detox Health Benefits)



डिटॉक्स वॉटर बनाना बहुत हि आसान है इसे आप घर मे आसानी से उपलब्ध होने वाली सामग्री से बना सकते है बनाने के लिये जिसे कई तरह तथा अपने स्वादानुसार बना सकते है उसके लिये आप ताजा फलों जैसे सेब अंगुर,सन्तरा, बेरीज, तरबूज, खरबूज, अनार, आदि ओर विभिन्द प्रकार के फलो को ले सकते है । सब्जियों मे आप करेला, लिम्बु, सकुन्दर, गाजर, ककड़ी, पुदीना, धनियापते, मुली, पालक, आदि या जड़ी-बूटियों में जैसे अदरक सिनेमम जिरा मेथी ओर हर्ब्स जैसे रोजमेरी, थाहिम,ओरेगना, सेज, आदि बेहतर स्वाद के लिये आप सेंदा नमक के


डिटॉक्स वॉटर"  (Detox Health Benefits)

साथ इन्हें उपयोग मे लिया जा सकता है। जो बहुत हि लाभदायक है। इसमे आपइसे कभी-कभी फल-संक्रमित पानी या फलों के स्वाद वाले पानी के रूप में जाना जाता है। फलों, सब्जियों और जड़ी बूटियों के किसी भी संयोजन का उपयोग करके आप घर पर बहुत से अलग-अलग तरीकों से डिटॉक्स पानी बना सकते हैं। क्योंकि यह रस या सम्मिश्रण के बजाय, स्वाद को कम करके बनाया जाता है, इसलिए डिटॉक्स पानी में बहुत कम कैलोरी होती है। कि यह "नींबू detox" एक लोकप्रिय पेय बनाता है। वजन घटाने की योजना में भी अक्सर डिटॉक्स पानी की सिफारिश की जाती है, विशेषकर शुगर सोडा और फलों के रस जो बाजार में तेयार मिलते है उन मे चीनी की मात्रा अधिक होती है उनके स्थान पर आप मनचाहा डेटोक्स पानी बनाकार पी सकते हैं। डिटॉक्स पानी फलों, सब्जियों या जड़ी-बूटियों के साथ पानी को मिलाकर बनाया जाता है। आप विभिन्न प्रकार के स्वादों का उपयोग करके अपने घर पर बना सकते हैं।

डिटॉक्स पानी कैसे बनाएं


डिटॉक्स वॉटर"  (Detox Health Benefits)




घर पर डिटॉक्स पानी बनाना बहुत सरल है। आपको बस पानी चाहिए और फलों, सब्जियों और जड़ी बूटियों का चयन। बस अपनी सामग्री को काट लें और अपनी पसंद के आधार पर उन्हें गर्म या ठंडे पानी में जोड़ें।एक घटक का जितना अधिक आप उपयोग करेंगे, स्वाद उतना ही मजबूत होगा। यदि आप कोल्ड ड्रिंक बना रहे हैं, तो फ्लेवर को और अधिक गहराई से संक्रमित करने की अनुमति देने के लिए आप 1-12 घंटे के लिए फ्रिज में डिटॉक्स पानी छोड़ सकते हैं। हालांकि इस समय के बाद सामग्री को निकालना सुनिश्चित करें, इसलिए वे विघटित होना शुरू नहीं करते हैं। यदि आप जल्दी में हैं, तो अपने फलों और जड़ी बूटियों को कुचल लैं। कुचलने से उन्हें कम समय में तेज़ी से स्वाद जारी करने में मदद कर सकते हैं।



यहाँ कुछ आसान detox पानी नुस्खा संयोजन हैं:




ककड़ी और पुदीना। नींबू और अदरक। ब्लैकबेरी और नारंगी।नींबू और लाल मिर्च। तरबूज और पुदीना। अंगूर और मेंहदी।नारंगी और नींबू। नींबू और चूना। स्ट्रॉबेरी और तुलसी। सेब और नीम्बू ,चुकुन्दर और अदरक। मसाला छास। जलजीरा। सलाद कूलर ककड़ी, टमाटर, हरा केला,केवी, अंगूर और सेब, ककड़ी, अजवाइन और पुदीना, नारंगी पानी तरबूज, नारंगी और नींबू.डिटॉक्स वॉटर बनाने के लिए, फलों, सब्जियों और हर्ब्स को पानी में मिलाएं और फिर इसे रातभर रखे ताकी पानी मे डाली गई सामग्री के अवयव पुर्ण रूप से मिश्रित हो जाये इससे स्वाद मे भी काफी अच्छा अन्तर आयेगा। फलों और जिस भी सामग्री से आप डेटोक्स पानी बना रहें है उन्हे कुचल कर डालें ताकी पूर्ण अवयव पानी मे मिश्रित हो जाये इससे ओर अधिक स्वाद मिले ।या कुचलने से उनके स्वाद को और अधिक जारी करने में मदद मिल सकती है।
Detox Water हमारे स्वास्थ्य को कैसे लाभ पहुंचाता है। विस्तृत मे जानते है।
डेटोक्स पानी हमारे शरीर में जमें हुए हानिकारक तत्वो को बाहर निकालता है । यह वजन घटाने तथा पाचनतन्न को स्वस्थ बनाता हैं। मूड को अच्छा बनाता है। और आपके ऊर्जा स्तर को भी बढ़ाता है।डिटॉक्स पानी के सटीक गुण आपके द्वारा उपयोग की जाने वाली सामग्री और सेवन के उपर निर्भर करती हैं।जबकी डिटॉक्स पानी के लिए स्वास्थ्य के कई दावों को पानी के लिए जिम्मेदार ठहराया जा सकता है, बजाय इसके कि इसके स्वाद के बारे में। ऐसा इसलिए है क्योंकि आपको डिटॉक्स पानी में मौजूद अवयवों से कई पोषक तत्व नहीं मिलते हैं, उनमे उपस्थित अवयव पानी में पूर्ण रूप से नही मिलते है। जबकी उन्हे साबुत खाने से हमे उनमें उपस्थित प्रोटीन आदि पुर्ण रूप से मिलते हैडिटॉक्स पानी विषाक्त पदार्थों को हटाने, वजन घटाने में मदद , आपके पाचन को संतुलित करने और आपकी रोग प्रतिरोग क्षमता को बढ़ावा देने का दावा किया गया है। वास्तविक स्वास्थ्य लाभ नीचे पानी के स्वास्थ्य संबंधी दावों के पीछे विज्ञान की एक विस्तृत नज़र है। कुछ मान्य हैं, भले ही वे कुछ उदाहरणों में थोडा अन्तर हो सकता है


वजन घटाने में मदद करता है



डिटॉक्स वॉटर"  (Detox Health Benefits)



पानी पीने से आपको वजन कम करने में मदद मिल सकती है, और यह पानी को डिटॉक्स
करने के लिए भी लागू होता है। पानी को आपके चयापचय दर को अस्थायी रूप से बढ़ाने
के लिए दिखाया गया है, इसलिए आप अधिक कैलोरी जलाते हैं।
यह आंशिक रूप से चयापचय में वृद्धि के द्वारा समझाया जा सकता है, लेकिन यह आपके
भूख पर पानी के प्रभाव के कारण भी हो सकता है। पीने के पानी को कम भूख से जोड़ा गया
है, इसलिए यदि आप भोजन से पहले पानी पीते हैं, तो आप कम खा सकते हैं


पाचन स्वास्थ्य में सुधार



पाचन स्वास्थ्य और नियमित मल त्याग को बनाए रखने के लिए हाइड्रेशन महत्वपूर्ण है।
जीर्ण निर्जलीकरण कब्ज पैदा कर सकता है, जो आपको फूला हुआ और सुस्त महसूस
कर सकता है )।
भरपूर पानी पीने से भोजन आपकी आंत से आसानी से गुजर सकता है और आपको कब्ज बनने से
रोकता है।


मूड और एनर्जी लेवल को बढ़ाता है

डिटॉक्स वॉटर"  (Detox Health Benefits)




एप्पल साइडर


डिटॉक्स वॉटर"  (Detox Health Benefits)




स्वादिष्ट सेब, • सेब का सिरका,• दालचीनी, शहद• पानी
तैयार कैसे करें
1. एक हरे सेब का टुकड़ा और एक जार में डालें 2. सेबसाइडर सिरका के दो बड़े चम्मच जोड़ें, जमीन दालचीनी का एक बड़ा चमचा,एक चम्मच शहद, और एक लीटर पानी 3. इसे रात भर फ्रिज में रखें। 4. आपका ड्रिंक तैयार है।
फायदा
• एप्पल साइडर सिरका आपकी प्रतिरक्षा को बढ़ाता है, रक्त कोलेस्ट्रॉल को कम करता हैयह इंसुलिन को नियंत्रित करता है, इसमें सूजन-रोधी गुण होते हैं, खून बढ़ता हैरक्तचाप के उतार-चढ़ाव को नियंत्रित करता है, और वजन घटाने में भी मदद करता हैशहद मैग्नीशियम, और जस्ता के रूप में विटामिन और खनिज, कैल्शियम, तांबा, पोटेशियम, मैंगनीज में समृद्ध है। यह कोलेस्ट्रॉल और चयापचय करता हैफैटी एसिड और पाचन को बढ़ावा देता है, दालचीनी में एंटीऑक्सिडेंट, एंटीऑक्सिडेंटथक्के और रोगाणुरोधी गुण है। यह भी नियंत्रित करता है रक्त शर्करा के स्तर में सुधार, मस्तिष्क कार्य, हृदय रोग को रोकता है।


ग्रीन टी


डिटॉक्स वॉटर"  (Detox Health Benefits)




का उपयोग भी करे कर सते है
तैयार कैसे करें1. एक कप पानी उबालें और उसमें ग्रीन टी बैग डालें 2. नींबू का रस जोड़ें 3. इसे तब तक पिएं जब यह गर्म हो।
लाभ
• ग्रीन टी आपकी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती है। यह एक अच्छा है कैटेचिनका स्रोत, एक प्रकार का एंटीऑक्सिडेंट एंटीऑक्सिडेंट मुक्त कणों को परिमार्जन करते हैं, जिससे उम्र बढ़ने की गति धीमी हो जाती है और इससे बचाव होता हैकैंसर कोशिकाओं का प्रसार नींबू शरीर की अतिरिक्त चर्बी को कम करने में मदद करता है
छाछ


जिसकी आपको जरूरत है गर्मियों के मौसम में इसका मजा ही कुछ और है।


डिटॉक्स वॉटर"  (Detox Health Benefits)



पुदीने की पत्तियां धनिये के पत्ते • 1/2 चम्मच भुना जीरा पाउडर, एक चुटकी नमक
तैयार कैसे करें
1. छाछ को जार में डालें 2. कुछ पुदीने की पत्तियों और कुछ को बारीक काट लें धनिये के पत्ते। 3. पतले आधे गाजर का टुकड़ा। 4. गाजर और जड़ी बूटियों को छाछ में मिलाएं 5. एक चुटकी नमक और थोड़ा सा भुना जीरा डालें बीज पाउडर और अच्छी तरह से हलचल।

लाभ
• छाछ विटामिन ए, फोलेट, कैल्शियम से भरपूर होती है, मैग्नीशियम, फास्फोरस, पोटेशियम, सोडियम, और ओमेगा 3 फैटी एसिड यह वजन घटाने में सहायता करता है, त्वचा रोगों को रोकता है, और बनाए रखने में मदद करता है अच्छा पाचन (अच्छे बैक्टीरिया होते हैं)छाछ में एंटी-इंफ्लेमेटरी और भी होता हैएंटीऑक्सीडेंट गुण धनिया की पत्तियों में विटामिन ए और के होता है विटामिन K सामग्री और खनिजों में भी समृद्ध हैं जैसे कैल्शियम और पोटेशियम। वो हैं अपच के इलाज में सहायक, त्वचा का इलाज औरमासिक धर्म संबंधी विकार, रक्त शर्करा को बनाए रखना और कोलेस्ट्रॉल का स्तर, और दृष्टि में सुधार जीरा में उच्च लौह तत्व होता है, जो महिलाओं के मासिक धर्म के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। वे पाचन में भी सहायता करता है और कैंसर से लड़ने में मदद करता है।


जलजीरा


में अनिवार्य रूप से पानी (जल) और जीरा (जीरा) शामिल हैं, और यह बेहद ठंडा और ताज़ा पेय है जो आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा है। लाइफस्टाइल कोच ल्यूक कॉटिन्हो, जलजीरा के स्वास्थ्य लाभों पर विस्तार से बताते हैं और आपको इसे अपने आहार में शामिल करना चाहिए। धनिया पत्ती - ian कप, पुदीना पत्ती - ½ कप, काला नमक - 1 चम्मच, नमक - स्वाद के लिए, हींग / हिंग - 2 चुटकी, काली मिर्च - 1 चम्मच, भुना जीरा पाउडर- dried बड़ा चम्मच, सूखे आम पाउडर / अमचूर - 1 चम्मच, अदरक पाउडर - 1 चम्मच, चीनी - ½ बड़ा चम्मच, दो मध्यम आकार के नींबू का रस, ठंडा पानी - 4 कप और बूंदी - ¼ कप।


चुकंदर और आम का सूप


डिटॉक्स वॉटर"  (Detox Health Benefits)




सामग्री
1 कप (6 औंस) चुकंदर का रस , 2 नहीं पके आम का गूदा, 6 बड़े चम्मच जैतून का तेल, 1 1/2 कप (20 fl। Oz) ठंडा पानी, 1 चम्मच नींबू का रस, नमक , काली मिर्च
तैयार कैसे करे।
एक ब्लेंडर में सभी अवयवों को मिलाएं और एक चिकनी तरल स्थिरता तक मिलाएं। स्वादानुसार नमक से सजाएं। मिश्रण को एक बड़े बाउल में डालें। कवर करें और रेफ्रिजरेटरमें ठंडा करने की अनुमति दें। यदि वांछित हो, तो सूप को अलग-अलग सूप के कटोरे में डालेंऔर टोस्टेड जैतून के तेल और कटा हुआ धनियापत्ता के साथ गार्निश करें।

1/07/2020

स्वस्थ जीवन शैली कैसे जीयें (Live Life Healthy)

एक स्वस्थ जीवन क्या है? 


स्वस्थ जीवन शैली में कैसे जीयें, healthy life kese jiye



एक स्वस्थ जीवनशैली वह है जो आपके स्वास्थ्य और कल्याण को बनाए रखने और बेहतर बनाने में मदद करती है।कई अलगअलग चीजें हैं जो आप एक स्वस्थ जीवन शैली जीने के लिए कर सकते हैं, जैसे कि स्वस्थ भोजन करना, शारीरिक रूप से सक्रिय रहना, स्वस्थ वजन बनाए रखना और अपने तनाव का प्रबंधन करना।  हालांकि, एक स्वस्थ जीवन शैली स्वस्थ भोजन और व्यायाम के बारे में नहीं है, यह "संपूर्ण आप" - आपकी शारीरिक, मानसिक, भावनात्मक और आध्यात्मिक कल्याण का ख्याल रखने के बारे में भी है।  और, इसका मतलब है कि अंदर से बाहर तक आपकी
देखभाल करना।



स्वस्थ जीवन शैली में कैसे जीयें, healthy life kese jiye


एक स्वस्थ जीवन शैली में कैसे जीयें




भले ही एक स्वस्थ जीवन शैली जीने के कई सामान्य तरीके हैं, वास्तव में ऐसा करना हर किसी के लिए अलग दिखता है, और इसका मतलब एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के लिए कुछ अलग है।  आप जो भी करना चाहते हैं, उसके बावजूद एक स्वस्थ जीवन शैली जीना बीमारी की रोकथाम, कल्याण और दीर्घायु के लिए एक महत्वपूर्ण घटक है।
अपने आहार, शारीरिक गतिविधि और तनाव के स्तर के प्रति सचेत रहने से आप अपने जीवन के सभी पहलुओं और "संपूर्ण रूप से" को प्रभावी ढंग से संतुलित कर सकते हैं।  नीचे एक स्वस्थ जीवन शैली जीने के लिए 10 महत्वपूर्ण बातें बताई गई हैं:
ऑयली और सुगर फूड, सोडा और कैफीन में कटौती करें।


यदि संभव हो, तो फास्ट फूड, फ्रेंच फ्राइज़, डोनट्स, चिप्स, वेजेज और डीप-फ्राइड फूड का सेवन कम करें।  न केवल वे बहुत मेद हैं (तेल का 1 बड़ा चम्मच 120 कैलोरी है), गहरे तले हुए भोजन में एक्रिलामाइड होता है, एक संभावित कैंसर पैदा करने वाला रसायन होता है।  बेहतर विकल्प हैं,जैसे कि ग्रील्ड, स्टीम्ड, हलचल-तला हुआ, या यहां तक ​​कि कच्चा भोजन।

अधिक पानी पिएं। 









स्वस्थ जीवन शैली में कैसे जीयें, healthy life kese jiye



हम में से अधिकांश हर दिन पर्याप्त पानी नहीं पीते हैं।  हमारे शरीर के कार्य करने के लिए
पानी आवश्यक है।  क्या आप जानते हैं कि हमारे शरीर का 60% से अधिक पानी से बना है?  शरीर के कार्यों को करने, कचरे को निकालने और हमारे शरीर के चारों ओर पोषक तत्वों और ऑक्सीजन को ले जाने के लिए पानी की आवश्यकता होती है।  चूंकि हम मूत्र, आंत्र आंदोलनों, पसीने और सांस के माध्यम से हर दिन पानी खो देते हैं, इसलिए हमें अपने पानी के सेवन को फिर से भरना होगा।  चूंकि भोजन का सेवन हमारे तरल पदार्थ के सेवन का लगभग 20% योगदान देता है, इसका मतलब है कि हमें हाइड्रेटेड रहने के लिए दिन में लगभग 8-10 गिलास पीने की ज़रूरत है।यह बताने का एक तरीका कि क्या आप हाइड्रेटेड हैं - आपका मूत्र रंगहीन या थोड़ा पीला होना चाहिए।  यदि यह नहीं है, तो आपको पर्याप्त पानी नहीं मिल रहा है!  अन्य संकेतों में शामिल हैं: शुष्क होंठ, शुष्क मुँह और थोड़ा पेशाब।

ध्यान आपके मन को शांत करता है




स्वस्थ जीवन शैली में कैसे जीयें, healthy life kese jiye



और आपकी आत्मा को शांत करता है।  यह आपके जीवन में तनाव से निपटने और प्रबंधन करने में भी आपकी मदद कर सकता है।  यदि आप ध्यान करना नहीं जानते हैं, तो आप सीख सकते हैं कि 5 सरल चरणों में कैसे ध्यान करें।
नियमित रूप से व्यायाम करें।  यदि आप सप्ताह में सिर्फ कुछ ही बार व्यायाम कर सकते हैं, लेकिन हर दिन।  रोजाना व्यायाम करने से आपके स्वास्थ्य में कई तरह से सुधार हो सकता है।
यह आपके जीवन काल को बढ़ाने, बीमारियों के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है, उच्च अस्थि घनत्व विकसित करने और वजन कम करने में आपकी मदद कर सकता है।



पर्याप्त नींद लो।



स्वस्थ जीवन शैली में कैसे जीयें, healthy life kese jiye



नींद की कमी से मोटापे, मधुमेह, और यहां तक ​​कि हृदय रोग सहित स्वास्थ्य समस्याओं का एक
मेजबान हो सकता है।  नींद की निरंतर कमी आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रभावित कर सकती है और आपको सर्दी और फ्लू से दूर करने में सक्षम बनाती है।  तो, यह एक महत्वपूर्ण रात की अच्छी नींद है।
आप रात में बेहतर नींद लेने में मदद करने के लिए चीजें कर सकते हैं।  आप सोने के समय कैफीन और निकोटीन जैसे उत्तेजक पदार्थों से बच सकते हैं।  इसके अलावा, जब शराब अच्छी तरह से ज्ञात होती है, तो आप तेजी से सो जाते हैं, रात के दूसरे भाग में सोने के दौरान नींद में खलल पड़ सकता है क्योंकि शरीर में शराब बनना शुरू हो जाता है।
रात में बेहतर नींद लेने के लिए व्यायाम भी आपकी मदद कर सकता है।  कम से कम 10 मिनट की एरोबिक व्यायाम, जैसे चलना या साइकिल चलाना, रात की नींद की गुणवत्ता में काफी सुधार कर सकते हैं लेकिन कृपया सोने से पहले ज़ोरदार कसरत से बचें। 

सेकेंड हैंड स्मोकिंग


स्वस्थ जीवन शैली में कैसे जीयें, healthy life kese jiye



(धूम्रपान करने वालों से हवा में सांस लेना) कई तरह की दीर्घकालिक बीमारियों का कारण सीधे धूम्रपान हो सकता है।  निष्क्रिय धूम्रपान का कोई जोखिम-मुक्त स्तर नहीं है;  यहां तक ​​कि संक्षिप्त प्रदर्शन आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है।  यदि संभव हो, तो धूम्रपान करने वालों से दूर रहें और सिगरेट के धुएं से  बचें जहाँ आप कर सकते हैं।

एक साधारण बात जो आप कर सकते हैं, विशेष रूप से निकट दूरी के लिए, सवारी पर चलना, ड्राइविंग करना या परिवहन करना चुनें।  आप लिफ्ट लेने के बजाय सीढ़ियों पर चढ़ सकते हैं।  आप उन व्यायामों को चुन सकते हैं जो घर पर या बाहर करने में आसान होते हैं, जिनका आप आनंद लेते हैं।  जब आप अपने लिए चुने गए शारीरिक गतिविधियों का आनंद लेते हैं, तो सबसे अधिक संभावना है कि आप उनका आनंद लेंगे और स्वाभाविक रूप से उन्हें करना चाहते हैं।  व्यायाम स्वस्थ होने और एक ही समय में मज़ेदार होने के बारे में है।  इसके अलावा, अपने अभ्यासों को मिलाकर उन्हें दिलचस्प बनाए रखेंगे।


  • अधिक फल और सब्जियों का सेवन करें।





  • स्वस्थ जीवन शैली में कैसे जीयें, healthy life kese jiye



    फलों में बहुत सारे विटामिन और खनिज होते हैं।  जितना संभव हो, आपको अपने दैनिक आहार के माध्यम से अपने विटामिन और खनिजों का उपभोग करना चाहिए।  इन पौष्टिक फलों के साथ अपने तालू को संतुष्ट करें: तरबूज, खुबानी, एवोकैडो (हाँ, एवोकैडो तकनीकी रूप से एक फल है!), सेब, कैंटालूप, अंगूर, कीवी, अमरूद, पपीता, स्ट्रॉबेरी। फलों की तरह, सब्जियां अच्छे स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण हैं।  
    लेकिन दुर्भाग्य से कई बार यह मुश्किल हो सकता है।  हालाँकि, जब आप कर सकते हैं, किडनी बीन्स, काले बीन्स, शतावरी, लंबी बीन्स, हरी बीन्स और गाजर जैसे खाद्य पदार्थों को शामिल करें।  अपनी पसंदीदा सब्जियों के बारे में सोचें और आप उन्हें हर दिन अपने आहार में कैसे शामिल कर सकते हैं, और चमकीले रंग के खाद्य पदार्थों को चुन सकते हैं।  चमकीले रंगों वाले फल और सब्जियां स्वास्थ्य के लिए अच्छे होते हैं क्योंकि ये हमारे शरीर की उन चीजों को हटा देते हैं जो हमारी कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाती हैं।  इसलिए, विभिन्न रंगों के फलों / सब्जियों को भरें: सफ़ेद (केले, मशरूम), पीला (अनानास, आम), नारंगी (नारंगी, पपीता), लाल (सेब, स्ट्रॉबेरी, टमाटर, तरबूज, हरा (अमरूद, एवोकाडो)  , ककड़ी, सलाद, अजवाइन), बैंगनी / नीला (ब्लैकबेरी, बैंगन, Prunes)।

    प्रोसेस्ड फूड से दूरी बनाए


    प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ अच्छे नहीं हैं क्योंकि (1) इन खाद्य पदार्थों को बनाने में
    अधिकांश पोषण मूल्य खो जाता है और (2) अतिरिक्त परिरक्षक हमारे स्वास्थ्य के लिए खराब होते हैं। कई प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों में नमक की मात्रा अधिक होती है, जिससे उच्च रक्तचाप और हृदय रोग होता है। प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थ कुछ भी हैं जो इसके कच्चे रूप में नहीं हैं।  सामान्य तौर पर, सुपरमार्केट में अधिकांश खाद्य पदार्थों को संसाधित किया जाता है - लेबल पर अधिक सामग्री (विशेष रूप से e ite 'या or ate' के साथ समाप्त होने वाले), वे जितना अधिक संसाधित होते हैं।  पहले 5 अवयवों में नमक / चीनी के साथ उन लोगों के लिए देखें और जितना संभव हो उतना असंसाधित भोजन के लिए जाएं।

    उद्देश्य पर गहराई से साँस लें।

    स्वस्थ जीवन शैली में कैसे जीयें, healthy life kese jiye











    ऑक्सीजन जीवन का एक महत्वपूर्ण स्रोत है।  आप जान सकते हैं कि कैसे सांस लेना है,लेकिन क्या आप ठीक से सांस ले रहे हैं?  हम में से अधिकांश लोग ठीक से साँस नहीं लेते हैं - हम केवल उथली साँस लेते हैं और अपनी फेफड़ों की क्षमता का 1/3 हिस्सा साँस लेते हैं।  एक पूर्ण सांस वह है जहां आपके फेफड़े पूरी तरह से भरे हुए हैं, आपका पेट फैलता है, और आपके कंधों में न्यूनतम गति होती है।  गहरी साँस लेने के कई लाभ हैं जिनमें तनाव और रक्तचाप में कमी, पेट और आंतों की मांसपेशियों को मजबूत करना और सामान्य शरीर के दर्द और दर्द में राहत शामिल है।  गहरी सांस लेने से बेहतर रक्त प्रवाह, शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने और बेहतर नींद लेने में सहायता मिलती है।
    भूरे रंग के कार्ब्स बनाम सफेद कार्ब्स के लिए जाएं।  व्हाइट कार्ब्सेयर में सफेद चावल, पास्ता, वाइट ब्रेड, क्रैकर्स, नूडल्स, टॉर्टिल्स, रैप्स, वाइट मैदा और ब्रेडिंग जैसे कुछ भी शामिल हैं।  पोषक तत्वों को उत्पादन प्रक्रिया में हटा दिया गया है, जिससे उन्हें कैलोरी में समृद्ध लेकिन पोषक तत्वों में कम है।  वे हमारे चीनी स्तरों में अस्वास्थ्यकर स्पाइक्स का भी कारण बनते हैं।  इसके बजाय भूरे रंग के कार्ब्स (अपरिष्कृत जटिल कार्ब्स) के लिए जाएं, जैसे कि ब्राउन राइस, साबुत अनाज, ओट्स, ओटमील (तत्काल प्रकार नहीं), और फलियां।  ये पोषक तत्वों और विटामिन के साथ आते हैं।


    शुगर फूड को कम करना आपकी सेहत के लिए भी बेहतर है।  ये कैंडी बार, पेस्ट्री, चॉकलेट, कुकीज़, केक औ जेली डोनट्स जैसी चीजें हैं।  इतना ही नहीं वे आपको नहीं भरते हैं, वे आपको चीनी की भीड़ के कारण अधिक खाने के लिए चाहते हैं।  फलों, सलाद, शुद्ध जूस और असंसाधित खाद्य पदार्थों की बजाय स्वस्थ स्नैक्स के लिए जाएं।
    कैफीन के साथ पेय मूत्रवर्धक हैं, जिसका अर्थ है कि वे मूत्र उत्पादन की दर को तेज करते हैं।  इसका मतलब है कि वे आपको हाइड्रेट नहीं कर सकते हैं और साथ ही सादे पानी से भी कर सकते हैं।  इसके अलावा, सोडा अस्वस्थ है, वजन बढ़ने का कारण बनता है, और एक कृत्रिम उत्तेजक है।  अपने सोडा को पानी या सब्जियों के रस से बदलें। सोडा छोड़ने के 5 कारणों पर और जानें (और इसे कैसे करें)

    धूम्रपान बंद करें और / या निष्क्रिय धूम्रपान से बचें।

     धूम्रपान से फेफड़े के कैंसर, किडनी कैंसर, इसोफेजियल कैंसर, दिल का दौरा और बहुत कुछ होने का खतरा बढ़ सकता है।  धूम्रपान "प्रकाश" सिगरेट स्वास्थ्य जोखिम को कम नहीं करता है।  यदि आप धूम्रपान करते हैं, तो अभी रुकें और न केवल अपने लिए बल्कि अपने परिवार और दोस्तों केलिए भी ऐसा करें।

    1/05/2020

    पिस्ता के स्वास्थ्य फायदे (Pistachio Health benefits)




    पिस्ता के फायदे (pistachio-health-benefits)


    पिस्ता के फायदे


    • 
    वैसे तो नट्स  हमारे लिए  खनिजों का भंडार है बात करते हैं तो चलिए पिस्ता हमारे लिए कैसे गुणकारी है   पिस्ता हमारे शरीर से हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को कम करता है तथा अच्छे के कोलेस्ट्रॉलअनुसार को बढ़ाने का काम करता है 
     पिस्ता के फायदे
    पिस्ता हमारे  की हृदय के रोगोको कम करता है और हमारी शरीर की तंत्रिका को बनाने की ताकत भी बढ़ाता है

     • पिस्ता के लाभों में विटामिन की उपस्थिति शामिल है
       ए, विटामिन और विरोधी भड़काऊ गुण कारण शरीर में सूजन 
      को  कम करना

     किसी भी समस्या के लिए।
    पिस्ता  में भरपूर मात्रा में प्रोटीन होते हैं 
     • विटामिन बी 6 प्रोटीन है जो रक्त में ऑक्सीजन ले जाने में मदद करता है
      
     इसमें हीमोग्लोबिन की गिनती।

     पिस्ता में विटामिंस बी सिक्स  अधिक मात्रा में होता है जो  घबराहट को दूर करने के लिए बहुत फायदेमंद है

    पिस्ता के फायदे1


     • वजन घटाने, और बेहतर आंत्र समारोह के लिए इन नट्स को अपने नियमित आहार में अवश्य शामिल करें।
     • टाइप 1 मधुमेह, उपापचयी सिंड्रोम, स्तंभन शिथिलता, आघात, मनोभ्रंश, एलर्जी, गठिया, अन्य प्रतिरक्षा समस्याओं, आदि को रोका जा सकता है 

     पिस्ता के फायदे2


       इन मेवों की खपत।
     • ये नट्स फाइटोस्टेरॉल से भरपूर होते हैं।  इसमें मदद मिलती है
       शरीर में एलडीएल के'खराब' कोलेस्ट्रॉल  स्तर को नीचे लाता  है
     • पिस्ता में कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है, जो हो सकता है निम्न रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ावा देना।

    पिस्ता के दुष्प्रभाव


     • बहुत अधिक खाने से आपके दुष्प्रभाव हो सकते हैं  वजन,    
              रक्तचाप और जठरांत्र संबंधी मार्ग।